Delhi Book Fair: किताबों के बारे में थोड़ा यह भी जानें

PICS:एक मेला किताबों वाला, किताबों के बारे में थोड़ा यह भी जानें

सफदर हाशमी की एक कविता है- किताब करती है बातें. किताबों का मेला यानी ढेर सारी किताबों की ढेर सारी बातें. किताबों के मेले में किताबें आपको अपनी ओर बुलाती नहीं, खींचती भी हैं. कहती हैं मुझे खरीदो और अपने घर ले चलो. पढ़ो और अपने भीतर ज्ञान का भंडार संचित करो. ज्ञान के कई साधन आज हैं, फिर भी इसमें कोई दो राय नहीं कि किताबें सबसे अनमोल हैं. यह हमारी सबसे अच्छी मित्र हैं. इनसे हमारा मार्ग प्रशस्त होता है. अब इतनी बेमिसाल गुणों वाली किताबें जिस मेले में मिलें उसके क्या कहने. पुस्तक मेले पाठकों के लिए वरदान हैं

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY