माता सीता ने किया था पहला छठ, यहां मौजूद हैं उनके पदचिन्ह

माता सीता ने किया था पहला छठ, यहां मौजूद हैं उनके पदचिन्ह

बिहार के सबसे बड़े पर्व छठ को लेकर कई धार्मिक मान्यतायें प्रचलित हैं, इनमें से एक मान्यता यह भी है कि माता सीता ने सर्वप्रथम छठ पूजन किया था, जिसके बाद महापर्व की शुरूआत हुई. छठ को बिहार का महापर्व माना जाता है. यह पर्व बिहार के साथ देश के अन्य राज्यों में भी बड़े धूम-धाम के साथ मनाया जाता है. बिहार के मुंगेर में छठ पर्व का विशेष महत्व है. छठ पर्व से जुड़ी कई अनुश्रुतियां हैं, लेकिन धार्मिक मान्यता के अनुसार माता सीता ने सर्वप्रथम पहला छठ पूजन बिहार के मुंगेर में गंगा तट पर संपन्न किया था. इसके बाद से महापर्व की शुरुआत हुई. इसके प्रमाण-स्वरूप आज भी माता सीता के चरण चिन्ह मौजूद हैं. वाल्मीकी रामायण के अनुसार, ऐतिहासिक नगरी मुंगेर के सीता चरण में कभी माँ सीता ने छह दिनों तक रह कर छठ पूजा की थी. श्री राम जब 14 वर्ष वनवास के बाद अयोध्या लौटे थे तो रावण वध के पाप से मुक्त होने के लिए ऋषि-मुनियों के आदेश पर राजसूय यज्ञ करने का फैसला लिया.

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY